August 9, 2020

Pyar Hua Ikrar Hua lyrics – Lata Mangeshkar | Shree 420

Pyar Hua Ikrar Hua lyrics Shree 420

The song Pyar Hua Ikrar Hua lyrics song singing by Lata Mangeshkar, Manna Dey from Hindi movie Shree 420 released on 6th September 1955 by Saregama. song Pyar Hua Iqrar Hua features Raj Kapoor, Nargis, Nadira. Pyar Hua Ikrar Hua lyrics written by Shailendra, and music by Shankar-Jaikishan.

Singer:-Lata Mangeshkar, Manna Dey
Lyrics:-Shailendra
Music:-Shankar-Jaikishan

Pyar Hua Ikrar Hua lyrics

English
Hindi

MALE–
Pyaar hua ikraar hua hai
Pyaar se phir kyoon darrta hai dil
Pyaar hua ikraar hua hai
Pyaar se phir kyoon darrta hai dil

–FEMALE–
Kehta hai dil rasta mushkil
Maaloom nahin hai kahan manzil
Kehta hai dil rasta mushkil
Maaloom nahin hai kahan manzil

–MALE–
Pyaar hua, ikraar hua hai
Pyaar se phir kyoon darrta hai dil

–FEMALE–
Kehta hai dil rasta mushkil
Maaloom nahin hai kahan manzil

–MALE–
Pyaar hua, ikraar hua hai
Pyaar se phir kyoon darrta hai dil

–FEMALE–
Aa, aa aa aa, aa aa aa, aa aa aa

(MUSIC)

–MALE–
Kaho ki apni preet ka geet na badlega kabhi

–FEMALE–
Tum bhi kaho is raah ka meet na badlega kabhi
Pyaar jo toota, saath jo chhoota

–BOTH–
Chaand na chamkega kabhi

–MALE–
Aa ha ha, aa ha ha
Aa aa aa, aa aa aa

–FEMALE–
Aa ha ha, aa ha ha
Aa aa aa, aa aa aa

–MALE–
Pyaar hua, ikraar hua hai
Pyaar se phir kyoon darrta hai dil

–FEMALE–
Kehta hai dil rasta mushkil
Maaloom nahin hai kahan manzil

–MALE–
Pyaar hua, ikraar hua hai
Pyaar se phir kyoon darrta hai dil

–FEMALE–
(Aa, aa aa aa, aa aa aa, aa aa aa)
Raatein dason dishaaon se kahengi apni kahaaniyaan

–MALE–
Geet hamaare pyaar ke dohraayegi jawaaniyaan

–FEMALE–
Main na rahoongi, tum na rahoge
Phir bhi rahengi nishaaniyaan

–BOTH–
Pyaar hua, ikraar hua hai
Pyaar se phir kyoon darrta hai dil
Kehta hai dil rasta mushkil
Maaloom nahin hai kahan manzil

Pyaar hua, ikraar hua hai
Pyaar se phir kyoon darrta hai dil
Kehta hai dil rasta mushkil
Maaloom nahin hai kahan manzil

–MALE–
Pyaar hua, ikraar hua hai
Pyaar se phir kyoon darrta hai dil

–FEMALE–
Aa, aa aa aa, aa aa aa, aa aa aa

प्यार हुआ इक़रार हुआ है
प्यार से फिर क्यों डरता है दिल
प्यार हुआ इक़रार हुआ है
प्यार से फिर क्यों डरता है दिल

कहता है दिल रस्ता मुश्किल
मालूम नहीं है कहाँ मंज़िल
कहता है दिल रस्ता मुश्किल
मालूम नहीं है कहाँ मंज़िल

प्यार हुआ इक़रार हुआ है
प्यार से फिर क्यों डरता है दिल

कहता है दिल रस्ता मुश्किल
मालूम नहीं है कहाँ मंज़िल

प्यार हुआ इक़रार हुआ है
प्यार से फिर क्यों डरता है दिल

कहो की अपनी प्रीत का मीत ना बदलेगा कभी
तुम भी कहो इस राह का मीत न बदलेगा कभी
प्यार जो टूटा
साथ जो छूटा
चाँद न चमकेगा कभी
हा हा हा हा हा हा

प्यार हुआ इक़रार हुआ है
प्यार से फिर क्यों डरता है दिल
कहता है दिल रस्ता मुश्किल
मालूम नहीं है कहाँ मंज़िल
प्यार हुआ इक़रार हुआ है
प्यार से फिर क्यों डरता है दिल

रातें दसों दिशाओं से कहेंगी अपनी कहानियाँ
प्रीत हमारे प्यार के दोहराएंगी जवानियाँ
मैं न रहूँगी
तुम न रहोगे
फिर भी रहेंगी निशानियाँ

प्यार हुआ इक़रार हुआ है
प्यार से फिर क्यों डरता है दिल
कहता है दिल रस्ता मुश्किल
मालूम नहीं है कहाँ मंज़िल

प्यार हुआ इक़रार हुआ है
प्यार से फिर क्यों डरता है दिल
कहता है दिल रस्ता मुश्किल
मालूम नहीं है कहाँ मंज़िल

प्यार हुआ इक़रार हुआ है
प्यार से फिर क्यों डरता है दिल