Paani Paani Lyrics – Badshah, Aastha Gill, Zacqueline Fernandez

Badshah Brand New Song Paani Paani Lyrics Singing by Badshah, Aastha Gill and featuring Badshah, Jacqueline Fernandez, Aastha Gill. Paani Paani song Lyrics is written by Badshah and the song Music is composed by Badshah and the video is directed by Mahi Sandhu, Joban Sandhu.

Singer:-Badshah, Aastha Gill
Song Writer:-Badshah
Music:-Badshah

Paani Paani Lyrics

Usney mujhe Chhua bhi nahi
Aisa waisa kuch Hua bhi nahi
Nazar thi paini hui bechaini
Aankhon aankhon mein shaitani ho gayi

Saiyaan ne dekha aise
Main paani paani ho gayi
Main paani paani ho gayi
Main paani paani ho gayi

Chalegi kya
Glass pada hai khaali bharegi kya
Saath aaye launde se daregi kya
Andar ki feeling se ladegi kya
Hadd ho gayi
Hadd se aagey bhi badhegi kya
Nau acre mein farm farm pe ghodey
Ghodey pe chadhegi kya

123, gaadi ke bonnet se nikle pari
Laundey aagey kahin tikte nahi
Baatein hain kaidi meri, likh le kahin
Chal niklein kahin

Aisi hoon khoyi kabhi khoyi hi nahin
Aankhein mili hain jabsey soyi hi nahi
Duniya se, suney hain, kissey tere
Jaane kya aayega hisse mere
Issi khayaal mein deewani ho gayi

Saiyaan ne dekha aise
Main paani paani ho gayi
Main paani paani ho gayi

Image kharaab, kaam galat hai
News mein naam aata har week
Phir bhi jahaan se guzroon
Har bandi ke mooh se nikle cheekh
Haath pakad par dil na laga
Jo kehti hai karke dikhe
Sunne mein aaya hai tu marti hai humpe
Marr ke dikha

Rehne de, mooh bandh rakh
Aankhein jo kehti hain kehne de
Bohot ruki hai aaj tu
Paani banke khud ko behne de

It’s yo boy badshah

Nazar thi paini, hui bechaini
Aankhon aankhon mein shaitani ho gayi
Saiyaan ne dekha aise

उसने मुझे छुआ भी नहीं
ऐसा वैसा कुछ हुआ भी नहीं
नजर थी पैनी, हुई बेचैनी
आँखों आँखों में शैतानी हो गई

सैयां ने देखा ऐसे
मैं पानी-पानी हो गई
मैं पानी-पानी हो गई
मैं पानी-पानी हो गई

चलेगी क्या?
ग्लास खाली हैं भरेगी क्या?
साथ आये लौंडे से डरेगी क्या?
अन्दर की फिलींग से लड़ेगी क्या?
हद हो गई, हद से भी आगे बड़ेगी क्या?
नौ एकड़ में फॉम, फॉम में घोड़े
घोड़े पे चढ़ेगी क्या?

123
गाड़ी के बोनट से निकले परी
लौंडे आगे कही टिकते नही
पाते है गाड़ी मेरी निकले कही
चल निकले कही

ऐसी हूँ खोयी, कभी खोयी ही नहीं
आँखे मिली है जब से सोयी ही नहीं
दुनिया से सुने है किस्से तेरे
जाने क्या आएगा हिस्से मेरे
इसी खयाल में दीवानी हो गई

सैयां ने देखा ऐसे
मैं पानी-पानी हो गई
मैं पानी-पानी

इमेज खराब, गलत काम
न्यूज में नाम आता हर वीक
फिर भी जहा से गुजरू
हर बंदी के मुंह से निकले चीख

हाथ पकड़ पर दिल ना लगा
जो कहती है कर के दिखा
सुनने में आया हैं तु मरती है हमपे
मरके दिखा

रहने दे, मुंह बंद रख
आँखे जो कहती है कहने दे
बहुत रूकी हैं आज तू
पानी बनके खुद को बहने दे

नजर थी पैनी, हुई बेचैनी
आँखों आँखों में शैतानी हो गई
सैयां ने देखा ऐसे