April 16, 2021

Humnava Mere Lyrics – Jubin Nautiyal – Manoj Muntashir

Humnava Mere Lyrics - Jubin Nautiyal, Manoj Muntashir

Humnava Mere Lyrics Song Singing by Jubin Nautiyal. Humnava Mere Lyrics are written by Manoj Muntashir and music is given by Rocky-Shiv and song starring Jubin Nautiyal, Romika Sharma.

Singer:-Jubin Nautiyal
Lyrics:-Manoj Muntashir
Music:-Rocky – Shiv

Humnava Mere Lyrics

Barson ho gaye bichhde
Ab saath nahi ho tum
Phir aisa kyun lagta hai
Jahaan main hoon wahin ho tum

Kya karoon main apni ungliyon ka
Kisi ki bhi tasveer banaaun
Tumhari ban jaati hai
Ye sirf mera pagalpan hai
Ya tum bhi mere liye pagal thi
Ooo

Kal raaste mein gham mil gaya tha
Lag ke gale main ro diya
Jo sirf mera tha sirf mera
Maine usey kyun kho diya

Haan woh aankhein jinhe main
Choomta tha bewajah
Pyaar mere liye kyun
Un mein baaqi na raha
Ho

Humnava mere
Tu hai to meri saansein chale
Bata de kaise main jiyunga
Tere bina

Ho.. Humnava mere
Tu hai to meri saansein chale
Bata de kaise main jiyunga
Tere bina

Har waqt dil ko jo sataaye
Aisi kami hai tu
Main bhi na jaanu ye
Ki itna kyun laazmi hai tu

Neendein jaake na lauti
Kitni raatein dhal gayi
Itne taare giney ki
Ungliyaan bhi jal gayi
Ho

Humnava mere
Tu hai to meri saansein chale
Bata de kaise main jiyunga
Tere bina

Ho.. Humnava mere
Tu hai to meri saansein chale
Bata de kaise main jiyunga
Tere bina

Tu aakhri aansu o yaara
Hai aakhri tu gham
Dil ab kahaan hai jo dobara
De dein kisi ko hum

READ More Lyrics:-  Kya Keh Diya Hai Tumne O Janam Lyrics Kiya Kiya - Welcome

Apni shaamon mein hissa
Phir kisi ko na diya
Ishq tere bina bhi
Maine tujhse hi kiya
O

Humnava mere tu hai to meri saansein chale
Bata de kaise main jiyunga tere bina Ho
Faasle na de ki main hu aasre tere
Bata de kaise main jiyunga tere bina

Aazma raha mujhe kyun
Aa bhi ja kahin se ab tu
Kaise main jiyunga tere bina

Seene mein jo dhadkane hain
Tere naam pe chale hain
Kaise main jiyunga tere bina

Jawaab mill gaya mujhe
Main tumhari zindagi mein kahin nahi tha
Phir bhi main hi tumhari zindagi tha
Sirf main hi tumhaare liye
pagal nahi tha Tum bhi

Humnava mere tu hai to
Meri saansein chale
Bata de kaise main jiyunga tere bina

बरसों हो गये बिछड़े
अब साथ नहीं हो तुम
फिर ऐसा क्यूँ लगता है
जहाँ मैं हूँ वहीं हो तुम

क्या करूँ मैं अपनी उँगलियों का
किसी की भी तस्वीर बनाऊं
तुम्हारी बन जाती है
ये सिर्फ मेरा पागलपन है
या तुम भी मेरे लिए पागल थी”
ओ..

कल रास्ते में गम मिल गया था
लग के गले मैं रो दिया
जो सिर्फ मेरा था सिर्फ मेरा
मैंने उसे क्यूँ खो दिया

हाँ वो आँखें जिन्हें मैं
चूमता था बेवजह
प्यार मेरे लिए क्यूँ
उन में बाकि न रहा
हो..

हमनवा मेरे
तू है तो मेरी सांसें चले
बता दे कैसे मैं जियूँगा
तेरे बिना

ओ.. हमनवा मेरे
तू है तो मेरी सांसें चले
बता दे कैसे मैं जियूँगा
तेरे बिना

हर वक़्त दिल को जो सताए
ऐसी कमी है तू..
मैं भी ना जानू ये
कि इतना क्यूँ लाज़मी है तू

READ More Lyrics:-  Tujhe Kitna chahe aur hum lyrics - Kabir Singh - Jubin Nautiyal

नींदें जा के ना लौटी
कितनी रातें ढल गयी
इतने तारे गिने कि
उँगलियाँ भी जल गयी
हो..

हमनवा मेरे
तू है तो मेरी सांसें चले
बता दे कैसे मैं जियूँगा
तेरे बिना..

ओ.. हमनवा मेरे
तू है तो मेरी सांसें चले
बता दे कैसे मैं जियूँगा
तेरे बिना..

तू आखरी आंसू है यारा
है आखरी तू गम
दिल अब कहाँ है जो दोबारा
दें दें किसी को हम

अपनी शामो में हिस्सा
फिर किसी को न दिया
इश्क तेरे बिना भी
मैंने तुझसे ही किया
ओ..

हमनवा मेरे तू है तो मेरी सांसें चले
बता दे कैसे मैं जियूँगा तेरे बिना
हो.. फासले ना दे मैं हूँ आसरे तेरे
बता दे कैसे मैं जियूँगा तेरे बिना

आजमा रहा मुझे क्यूँ
आ भी जा कही से तू
कैसे मैं जियूँगा तेरे बिना

सीने में जो धड़कने हैं
तेरे नाम पे चले हैं
कैसे मैं जियूँगा तेरे बिना

जबाब मिल गया मुझे
मैं तुम्हारी ज़िन्दगी में कहीं नहीं था
फिर भी मैं ही तुम्हारी ज़िन्दगी था
सिर्फ मैं ही तुम्हारे लिये पागल नहीं था
तुम भी

हमनवा मेरे तू है तो
मेरी सांसें चले
बता दे कैसे मैं जियूँगा तेरे बिना