October 25, 2020

Chura Ke Dil Mera Lyrics – Main Khiladi Tu Anari

Chura Ke Dil Mera Lyrics - Main Khiladi Tu Anari

Chura Ke Dil Mera Lyrics song singing by K.K from the movie Main Khiladi Tu Anari. Chura Ke Dil Mera Lyrics are written by Rahat Indori and Music composed by Anu Malik. this song was released on 23rd September 1994 by Venus Records.

Singer:-Alka Yagnik, Kumar Sanu
Lyrics:-Rahat Indori
Music:-Anu Malik

Chura Ke Dil Mera Lyrics

English
Hindi

Churake Dil Mera Goriya Chali
Churake Dil Mera Goriya Chali
Udake Nindiyaan Kahan Tu Chali
Paagal Hua, Deewana Hua
Paagal Hua, Deewana Hua
Kaisi Yeh Dil Ki Lagi

Ho, Churake Dil Tera Chali Main Chali
Mujhe Kya Pata Kahan Main Chali
Manzil Meri Bas Tu Hi Tu
Manzil Meri Bas Tu Hi Tu
Teri Gali Main Chali

Oh, Churake Dil Mera Goriya Chali
Churake Dil Tera Chali Main Chali

Abhi To Lage Hain Chaahaton Ke Mele
Abhi Dil Mera Dhadkanon Se Khele
Kisi Mod Par Main Tumko Pukaaroon
Bahaana Koi Bana To Na Loge

Agar Main Bata Doon
Mere Dil Mein Kya Hai
To Mujhse Nigaahen
Chura To Na Loge

Agar Badh Gayi Hai Betaabiyaan
Kahin Mujhse Daaman Chhuda To Na Loge
Kehta Hai Dil Dhadakte Hue
Tum Sanam Hamaare Hum Tumhaare Hue
Manzil Meri Bas Tu Hi Tu
Manzil Meri Bas Tu Hi Tu
Teri Gali Main Chali

Oh, Churake Dil Mera Goriya Chali
Churake Dil Tera Chali Main Chali

Nahi Bewafa Tum, Yeh Mujhko Khabar Hai
Badalti Ruton Se Magar Mujhko Darr Hai
Nayi Hasraton Ki Nayi Sej Par Tum
Naya Phool Koi Saja To Na Loge

wafaayein To Mujhse Bahut Tumne Ki Hai
Magar Is Jahan Mein Haseen Aur Bhi Hai
Kasam Meri Khaakar Itna Bata Do
Kisi Aur Se Dil Laga To Na Loge
Dheere Dheere Chori Chori
Chupke Chupke Aake Mil
Toot Na Jaaye Pyar Bhara Yeh Dil

Manzil Meri Bas Tu Hi Tu
Manzil Meri Bas Tu Hi Tu
Teri Gali Main Chali
Churake Dil Mera Goriya Chali.

चुरा के दिल मेरा गोरिया चली
चुरा के दिल मेरा गोरिया चली
उड़ा के निंदिया कहाँ तू चली
पागल हुआ दीवाना हुआ
पागल हुआ दीवाना हुआ
कैसी ये दिल की लगी

READ More Lyrics:-  Humne Tumko Dil Ye De Diya Lyrics - Alka Yagnik - Gunaah

चुरा के दिल तेरा चली मैं चली
मुझे क्या पता कहाँ मैं चली
मंज़िल मेरी बस तू ही तू
तेरी गली मैं चली

चुरा के दिल मेरा गोरिया चली
चुरा के दिल तेरा चली मैं चली

अभी तो लगे हैं चाहतों के मेले
अभी दिल मेरा धड़कनों से खेले
किसी मोड़ पे मैं तुमको पुकारूं
बहाना कोई बना तो ना लोगे

अगर मैं बता दूं मेरे दिल में क्या है
तुम मुझसे निगाहें चुरा तो ना लोगे
अगर बढ़ गयी है बेताबियां
कहीं मुझसे दामन छुड़ा तो ना लोगे

कहता है दिल धड़कते हुए
तुम सनम हमारे हम तुम्हारे हुए
मंज़िल मेरी बस तू ही तू
मंज़िल मेरी बस तू ही तू
तेरी गली मैं चली

चुरा के दिल मेरा गोरिया चली
चुरा के दिल तेरा चली मैं चली

नही बेवफ़ा तुम ये मुझको खबर है
बदलती रुतों से मगर मुझको डर है
नई हसरतों की नई सेज पर तुम
नया फूल कोई सजा तो ना लोगे

वफ़ाएं तो मुझसे बहुत तुमने की है
मगर इस जहाँ में हसीं और भी हैं
कसम मेरी खा कर इतना बता दो
किसी और से दिल लगा तो ना लोगे
धीरे धीरे चोरी चोरी आके मिल
टूट ना जाये प्यार भरा दिल

मंज़िल मेरी बस तू ही तू
मंज़िल मेरी बस तू ही तू
तेरी गली मैं चली
चुरा के दिल मेरा गोरिया चली